Sunday, February 5, 2023
HomeAgriculture Newsबीज बोते समय ही करें बीज बनाने की तैयारी |

बीज बोते समय ही करें बीज बनाने की तैयारी |

उत्तम गुणवत्ता वाला बीज सामान्य बीज से 20 से 25 प्रतिशत अधिक कृषि उपज देता है

शुद्ध एवं स्वास्थ्य प्रमाणित बीज अच्छी पैदावार देता है । जिससे समय व पैसे की बचत आदि होती है यदि किसान फसल से बीज बनाने के लिए विचार कर रहे हैं तो बीज बोते समय तैयारी शुरू कर देनी चाहिए ताकि फसल स्वस्थ हो और वह उस फसल से बीज बना सके उसे बाजार से महंगा बीज खरीदना ना पड़े, बाजार से खरीदा हुआ बीज किसान के बीज से लगभग 2 गुना महंगा होता है किसान ध्यान पूर्वक सावधानियों से बीज बोए जिससे फसल भी अच्छी निकले ।

किसान को ध्यान रखने योग्य सावधानियां

किसान को बीज उत्पादन हेतु फसल उस खेत में लगाना चाहिए जिसकी देखरेख आसानी से की जा सके, बीज के लिए बुवाई उसी खेत में करनी चाहिए, जिस खेत में पहले भी उसी वैरायटी का बीज बोया गया हो, बीज यदि किसी प्राइवेट कंपनी का है या फिर किसी प्रमाणीकरण बीज संस्थान का है, तो उसके लेवल, बैग ,रसीद, थैला, संभाल कर रखना चाहिए, जिससे बीज की पहचान एवं आवश्यकता पड़ने पर सत्यापन कर सकें, बीज फसल से अन्य किस्म की फसलों की निर्धारित दूरी रखनी चाहिए जो स्व परागित फसलों को फसलवार के लिए न्यूनतम 3 मीटर तथा परागित फसलों के लिए फसलदार निर्धारित है।

बीज फसल की बुवाई से पहले सीडड्रिल,जीरोड्रिल , सुपरसीडर , नाड़ी बैल चाहे जो भी साधन हो , उसे अच्छी तरह से साफ करना चाहिए चाहे तो सीडड्रिल की एक नली को बंद कर दें ताकि रॉगिंग के समय किसान को खेत में चलने में आसानी रहे , बीज फसल की बोनी सामान्य दर से ही की जावे बीज दर बढ़ाकर बोनी नहीं की जाए ।

फसल की रखरखाव में ध्यान रखने योग्य सावधानियां

निर्धारित मात्रा में खाद ,कीटनाशक ,नींदानाशक , का इस्तेमाल करना चाहिए समय पर सिंचाई निराई गुड़ाई का कार्य किया जाए फसल को ज्यादा अधिक निंदा भी ना जाए आवश्यकतानुसार निंदा जाए ऐसी रसायनों का उपयोग ना करें जो कि बीज फसल की गुणवत्ता को प्रभावित करते हो , समय-समय पर खरपतवार को उखाड़ कर फेंकना चाहिए मिश्रित खेती ना करें बीज फसल में उपस्थित बीज वायु जनित रोग वायरस ग्रस्त पौधों को उखाड़ कर नष्ट कर देना चाहिए जैसे कंडुआ रोग बीच फसल की कटाई ऐसे आधुनिक यंत्र से ना की जाए जिससे बीज के मिश्रण की संभावना हो या बीज कटता फटता हो , बीच को साफ बोरे में भरा जाए, ऐसे स्थान पर भंडारण किया जाए जहां फसल की गुणवत्ता खराब ना हो सके।


ऐसी सावधानियों के उपरांत आप चाहें तो अपने बीच को प्रमाणित भी करवा सकते हैं प्रमाणीकरण की विभिन्न अवस्थाएं हैं जैसे बीच स्त्रोत सत्यापन , फसल निरीक्षण, बीज प्रक्रिया एवं बीज परीक्षण टैगिंग सीलिंग व प्रमाण पत्र प्राप्त करना जो कि राज्य बीज प्रमाणीकरण संस्था से प्राप्त किया जा सकता है सत्यापन करने के समय बीज प्रमाणीकरण संस्था द्वारा किसानों से निश्चित करके प्रमाण पत्र देने के लिए बीच प्लॉट में मान स्त्रोत से बीच प्राप्त कर बोया गया है, प्रत्येक आवेदक किसान से बीच के टैग लेवल खाली थैलियां खरीदी रिकॉर्ड आदि आवश्यक दस्तावेज आवेदन करते समय या प्रथम निरीक्षण के समय मांगे जाने पर देना होगा , साथ ही बुआई से कटाई के समय सारणी बनाकर रखें

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments